Hindustan24
उत्तर प्रदेशजौनपुर

पूर्वांचल लखनऊ । राष्ट्रपति चुनाव की बैठक में न बुलाने से नाराज हुए ओपी राजभर, बोले अखिलेश को अब मेरी जरूरत नहीं

Advertisement

राष्ट्रपति चुनाव की बैठक में न बुलाने से नाराज हुए ओपी राजभर, बोले अखिलेश को अब मेरी जरूरत नहीं

Advertisement

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और सुभासपा अध्यक्ष ओपी राजभर के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है आजमगढ़ और रामपुर में मिली हार के बाद राजभर का अखिलेश पर वार और पलटवार जारी है राष्ट्रपति चुनाव को लेकर लखनऊ में हुई विपक्ष की बैठक में सुभासपा प्रमुख ओपी राजभर को नहीं बुलाने से एक बार गठबंधन में दरार दिखाई दी है राजभर ने बैठक में नहीं बुलाने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि अखिलेश यादव ने उन्हें बैठक में आने का निमंत्रण नहीं दिया. उन्होंने कहा कि लगता है अखिलेश को अब उनकी जरूरत नहीं है. राजभर ने कहा कि वह सपा के साथ गठबंधन में हैं. गुरुवार को सपा कार्यालय में यशवंत सिन्हा के साथ हुई बैठक में अखिलेश ने रालोद के जयंत चौधरी और कांग्रेस नेताओं को बुलाया, लेकिन उन्हें क्यों नहीं बुलाया यह समझ से परे है. राष्ट्रपति चुनाव में उनकी पार्टी किसके साथ होगी इस पर फैसला अगले एक-दो दिन में लेंगे। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अभी इस चुनाव के संबंध में भाजपा से भी किसी ने उनसे कोई संपर्क नहीं किया है.
दरअसल, रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में सपा की जबरदस्त हार के बाद से ही राजभर और अखिलेश के बीच तनातनी दिख रही है. राजभर ने उपचुनाव में सपा की हार का ठीकरा सीधे अखिलेश यादव पर फोड़ दिया था. उन्होंने यहां तक कह दिया कि वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव की हार से अखिलेश यादव ने कोई सीख नहीं ली. उपचुनाव में वह एसी कमरे से बाहर नहीं निकले. इसके बाद अखिलेश ने भी पलटवार किया और कहा कि उन्हें किसी की सलाह की जरूरत नहीं है।

Related posts

चन्दवक व्यापार मंडल संजय गुप्ता के नेतृत्व में निकाली गई तिरंगा यात्रा

नगर पंचायत कार्यालय को माधोपट्टी में बनने का हुआ विरोध

अच्छेलाल राजभर

डोभी हिंदू युवा वाहिनी की मासिक बैठक संपन्न हुई।

Leave a Comment